Google+ Followers

सोमवार, 2 जनवरी 2012

अनवीकरणीय ऊर्जा


अनवीकरणीय ऊर्जा

अनवीकरणीय स्रोत
कोयला, खनिज तेल एवं प्राकृतिक गैस, ऊर्जा के अनवीकरणीय स्रोत है। इसे जीवाश्म ईंधन भी कहा जाता है क्योंकि यह वृक्षों के उत्पाद हैं जो हजारों वर्ष जीवित अवस्था मंम थे। आज जीवाश्म ईंधन का उपयोग प्रमुख ऊर्जा स्रोत के रूप में हो रहा है। भारत के पास विश्व के कुल कोयला भंडार का 7 प्रतिशत उपलब्ध है। कोयला देश के कुल ऊर्जा आवश्यकता के 50 प्रतिशत की पूर्ति करता है। भारत में प्रतिवर्ष 114 मीट्रिक टन खनिज तेल की खपत होती है जिसमें से 75 प्रतिशत का आयात किया जाता है। जीवाश्म ईंधन के जलने से पर्याप्त मात्रा में पर्यावरण भी प्रदूषित होता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें